जब भी पुजारा को किया बाहर, टीम इंडिया को हुआ नुकसान, देखिए आंकड़े

बर्मिंघम टेस्‍ट में पहले दिन इंग्‍लैंड को पूरी तरह काबू करने के बाद दूसरे दिन की शुरुआत भारत के लिए अच्‍छी नहीं रही। पहले दिन इंग्‍लैंड ने 88 ओवरों में नौं विकेट खोकर 285 रन बनाए थे। दूसरे दिन इंग्‍लैंड महज दो रन ही बना पाई। जिसके बाद भारतीय टीम मैदान पर बल्‍लेबाजी के लिए उतरी।

काउंटी में खेलने और अपने एक्शन को सरल करने से मदद मिली: अश्विन
काउंटी में खेलने और अपने एक्शन को सरल करने से मदद मिली: अश्विन

सैम कुर्रन ने झटके भारत के तीन विकेट

सलामी बल्‍लेबाज मुरली विजय 20(45) और शिखर धवन 26(46) ने पहले विकेट के लिए 50 रन जरूर जोड़े। जिसके बाद भारत को लगातर तीन झटके लगे। युवा खिलाड़ी सैम कर्रन ने पहले 14वें ओवर में मुरली विजय को एलबीडब्‍ल्‍यू आउट किया। इसी ओवर की आखिरी गेंद पर तीसरे नंबर पर खेलने आए केएल राहुल को भी कुर्रन ने बोल्‍ड कर चलता किया। सैम कुर्रन ने मैच के 16वें ओवर में दूसरे सलामी बल्‍लेबाज शिखर धवन को डेविड मालान के हाथों कैच आउट कराया।

भारत फिल्‍हाल 20 ओवरों में 71 रन बनाकर खेल रहा है। मैदान पर कप्‍तान विराट कोहली 9(22) के साथ उपकप्‍तान अजिंक्‍य रहाणे 4(9) मौजूद हैं। लगातार तीन झटकों के बाद भारतीय टीम को अब एक लंबी साझेदारी की दरकार है।

टीम को खल रही है चेतेश्‍वर पुजारा की कमी

पहले टेस्‍ट मैच में चेतेश्‍वर पुजारा की जगह केएल राहुल 4(2) को प्‍लेइंग इलेवन में जगह दी गई, लेकिन वो पहली पारी में कुछ खास नहीं कर सके। भारतीय टीम को इस वक्‍त चेतेश्‍वर पुजारा की कमी काफी खल रही है। वो संभल कर टीम की पारी को आगे बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं। इसी बीच क्रिकेट पंडितों की तरफ से चेतेश्‍वर पुजारा को लेकर एक आकड़ा जारी किया गया है। बताया गया है कि चेतेश्‍वर पुजारा की मौजूदगी में भारतीय टीम करीब 57 प्रतिशत मैचों में जीतती है। बिना पुजारा के भारत का जीत का प्रतिशत गिरकर 26 रह जाता है। पुजारा के साथ भारत ने 58 में से 33 मैच जीते हैं। वहीं पुजारा के बिना भारत 23 टेस्‍ट मैच खेलकर महज छह मैच ही जीत पाया है।

मैच जीत का प्रतिशत हार का प्रतिशत
पुजारा के साथ 58 57 43
पुजारा के बिना 23 26 74